ऑंखों पर खूबसूरत शायरी Shayari on Eyes in Hindi

ऑंखों पर शायरी  Shayari on Eyes in Hindi, दोस्तों आगरा आप अपनी खूबसूरत साथी की ऑंखों तारीफ पर शायरी लिखना चाहते हैं, तो हमने आपके लिए ऑंखों पर बहुत अच्छी अच्छी शायरी पब्लिश्ड की है, जिसे आप अपने खूसूरत दोस्त के साथ शेयर कर के उन्स्की तारीफ कर सकते हैं।


Mahekta Hua Jism Tera Gulaab Jaisa Hai,
Neend Ke Safar Mein Tu Ek Khwaab Jaisa Hai,
Do Ghoont Pee Lene De Aankhon Ke Iss Pyaale Se,
Nashaa Teri Aankhon Mein Sharab Jaisa Hai.

महकता हुआ जिस्म तेरा गुलाब जैसा है
नींद के सफर में तू एक ख्वाब जैसा है
दो घूँट पी लेने दे आँखों के इस प्याले से
नशा तेरी आँखों का शराब जैसा है

आंखें शायरी shayari on eyes

Guftgoo Band Na Ho Baat Se Baat Chale
Bajron Mein Raho Qaid Dil Se Dil Mile

गुफ्तगू बंद न हो बात से बात चले,
नजरों में रहो कैद दिल से दिल मिले

Yun Hi Gujar Jaati Hain Shaame 
Anjuman Me Tumhari,
Kuchh Teri Aankho Ke Bahane
 Kuchh Teri Baato Ke Bahane.

यूँ ही गुजर जाती है 
शामें अंजुमन में तुम्हारी,
कुछ तेरी आँखों के बहाने 
कुछ तेरी बातो के बहाने

shayari on eyes

Tumhri Nigahen 
Bahut Bolti Hain,
Jara Apni Aankhon Par 
Palko Kr Parde Gira Do.

तुम्हारी निगाहें बहुत बोलती हैं
जरा अपनी आँखों पे पलकों के परदे गिरा दो

Hai Ishq Ki Manzil 
Mein Haal Ke Jaise,
Lut Jaye Kahin Raah 
Mein Saman Kisi Ka.

है इश्क़ की मंज़िल में 
हाल कि जैसे
लुट जाए कहीं राह में 
सामान किसी का

Mere Honthhon Ne Har 
Baat Chhupa Rakhi Thi,
Aankhon Ko Ye Hunar 
Kabhi Aaaya Hi Nahin.

मेरे होठों ने हर बात 
छुपा कर रखी थी
आँखों को ये हुनर 
कभी आया ही नहीं

ankhein shayari hindi me

Sukun Ki Talash Me Tumhari 
Aankhon Me Jhaka Tha Humne,
Kise Pata Tha Kambakht 
Dil Ko Dard Aurmil Jayega.

सुकून की तलाश में तुम्हारी 
आँखों में झाँका था हमने
किसे पता था कम्बखत 
दिल को दर्द और मिल जाएगा

 

आंखें शायरी ankhe shayari

kya nsha Hai Teri Ankho  Me 
Vo Bat Khan Mekhane Me,
 Bas Tu Mil Jaye To Fir Kya 
Rakha Hai Zamane ME

क्या नशा  है तेरी आँखों में वो 
बात कहां मयखाने  में
 बस तू मिल जाए तो फिर 
क्या रखा है ज़माने में

 

shayari on eyes

Nazre milane ka 
shok na tha
bas tumhe dekha to 
aadat khrab ho gayi

नज़रें  मिलाने का 
शौक न था
तुम्हें देखा तो आदत 
खराब हो गयी

 

ऑंखें शायरी डाउनलोड

Jaane Kya jadu Hai Tumahri 
मदहोश Aankhon Me,
Najar Andaaz Jitna Karo 
Najar Tumhi Pe Padti Hai

जाने क्या जादू  है 
तुम्हारी मदहोश आँखों में
नज़र अंदाज़ जितना करो 
नज़र तुम्हीं पे  पड़ती है

 

eyes shayari hindi

 Shayari On Eyes

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post