Ahmad Nadeem Qasmi Shayari in Hindi

Ahmad Nadeem Qasmi Shayari in Hindi. अहमद नदीम क़ासमी एक पाकिस्तानी शायर और कवी, जिन्होंने उर्दू और इंग्लिश भाषा में कई ग़ज़ल कवितायेँ लिखीं वे अपने समय के प्रसिद्ध साहित्यकार, नाटकार लेखक थे। 


ahmad nadeem qasmi

उनकी कविताओं में मानवतावाद की झलक मिलती है। इस आर्टिकल में उनके द्वारा लिखी गयी ग़ज़लों में से शेयर आपके लिए पब्लिश किये हैं, मुझे उम्मीद है  आपको ये जरूर पसंद आएँगी।


 कौन कहता है मोत आयी तो मर जाऊंगा

मैं तो दरिया हूँ समुन्दर में उतर जाऊंगा

 

Ahmad Nadeem Qasmi

मर जाता हूँ जब ये सोचता हूँ 

मैं तेरे बगैर जी रहा हूँ


कितनी हसरत थी तुझे पास बैठा कर रोयें

अब ये मुश्किल है तेरे सामने रोयें कैसे 

👉  ब्यूटीफुल लव शायरी  

उन को फ़िक्र की मैं पार लगा या डूबा 

बहस करते रहे साहिल पे जो तुफानो की 


खुदा करे की तेरी उम्र में गिने जाएँ 

वो दिन जो हम ने तेरे हिज्र में गुजरे थे

 

Ahmad Nadeem Qasmi Shayari in Hindi

आज की रात भी तनहा ही कटी

आज के दिन भी अँधेरा होगा


तुम मेरे इरादों के डोलते सितारों को 

यास के खलाओं में रास्ता दिखाओ

👉 Jakhmi Dil Shayari

पूछ बैठा हूँ मैं तुझसे तेरे कूचे का पता

तेरी हालत ने कैसी तेरी सूरत कर दी


तोड़ कर देख लिया आइना ऐ दिल तूने

तेरी सूरत के सिवा और बता क्या निकला

 

urdu shayari in hindi

सुबह होते ही निकल आते हैं बाजार में लोग

गठरियाँ सर पे उठाये हुए ईमानो की 


तुझ से किस तरह मैं इजहार ऐ तमन्ना करता 

लफ्ज़ सुझा तो मानी ने बगावत कर दी


पा कर भी तो नींद उड़ गयी थी

खो कर भी तो रत जगे मिलें है 

👉 Instagram Bio For Girls 

मरुँ तो मैं किसी चेहरे में रंग भर जाऊं

नदीम काश यही एक काम कर जाऊं


क्या भला मुझ को परखने का नतीजा निकला 

जखम ऐ दिल आपकी नज़रों से भी गहरा निकला

 

Ahmad Nadeem Qasmi Shayari

किस दिल को करूँ विदा तुझ को 

टुटा जो सितारा बुझ गया है 


मुझ को दुश्मन के इरादों पे भी प्यार आता है 

तेरी उल्फत ने मुहब्बत मेरी आदत कर दी

👉 उर्दू शायरी हिंदी में Urdu shayari 

फरेब खाने को पेशा बना लिया हम ने 

जब एक बार वफ़ा का फरेब खा बैठे 


मैं जिन्दा था की तेरा इंतज़ार ख़तम न हो

जो तू मिला है तो अब सोचता हूँ में मर जाऊं

 

ahmad nadeem qasmi shayari


आगोश में महकोगे दिखाई नहीं दोगे

तुम निकहत ऐ गुलजार हो हम पर्दा ऐ शब हैं 


मैं किश्ती में अकेला तो नहीं हूँ

मेरे हमराह दरिया जा रहा है


इतना मानूस हूँ सन्नाटे से

कोई बोले तो बुरा लगता है

👉 God Shayari in Hindi 

सारी दुनिया हमें पहचानती है 

कोई हम सा भी न तनहा होगा


भरी दुनिया में फ़क़त मुझसे नगाहें न चुरा 

इशक पर बस न चलेगा तेरी दानाई का 


हर लम्हा अगर गुरेज पा है 

तू क्यों मेरे दिल में बस गया है


शाम को सुबह ऐ चमन याद आई

किस की खुशबू ऐ बदन याद आई


मुझे मंजूर गर तर्क ऐ ताल्लुक है रज़ा तेरी 

मगर टूटेगा रिश्ता दर्द का आहिस्ता आहिस्ता 


मैं तेरे कहे से चुप हूँ लेकिन

चुप भी तो ब्यान ऐ मुद्दा है 

👉 Breakup Shayari Hindi

तू ने यूँ देखा है जैसे कभी देखा ही न था

मैं तो दिल में तेरे क़दमों के निशाँ तक देखूँ

 

ahmad nadeem qasmi hindi shayari

दिल गया था तो ये आँखें भी कोई ले जाता 

मैं फकत एक ही तस्वीर कहाँ तक देखूं


लोग कहते हैं की साया तेरे पैकर का नहीं 

मैं तो कहता हूँ जमाने पे है साया तेरा 


जन्नत मिली झूठों को अगर झूठ के बदले 

सच्चों को सजा में है जहन्नम भी गवारा 

👉 200+ New Sad Shayari  

जकड़ी हुयी है इनमे मेरी सारी कायनात

गौ देखने में नरम है तेरी कलाईयाँ 


मुसाफिर ही मुसाफिर हर तरफ हैं

मगर हर शख्स तन्हा जा रहा है

👉 200+ New Sad Shayari  

उन का आना हश्र से कुछ कम न था

और जब पलटे कयामत ढा गए 


कुछ खेल नहीं है इशक करना

ये जिंदगी भर का रत जगा है


मेरा वजूद मेरी रूह को पुकारता है

तेरे तरफ भी चलूँ तो ठहर ठहर जाऊ 


जिंदगी शमा की मानिंद जलता हूँ नदीम

बुझ तो जाँऊगा मगर सुबह तो कर जाऊंगा

 

ahmad nadeem qasmi best shayari

उस वक़्त का हिसाब क्या दूँ 

जो तेरे बगैर काट गया है


मेरे खुदा ने किया था मुझे असीर ऐ बहिश्त 

मेरे गुनाह ने रिहाई मुझे दिलाई है 


उम्र भर संग जनि करते रहे अहल ऐ वतन 

ये अलग बात की दफ़नाएंगें अज़ाज़ के साथ


खुद को तो नदीम आज़माया

अब मर के खुदा को आज़माऊं


जिस भी फनकार का शाहकार हो तुम

उस ने सदिओं तुम्हें सोचा होगा

👉 दर्द भरी ब्रेकअप शायरी 

आखिर दुआ करें भी तो किस मुद्दाः के साथ

कसिए जमीन की बात कहें आसमाँ से हम


इक उम्र के बाद मुस्कुराकर 

तू ने टी मुझे रुला दिया

👉 350+ Love shayari in hindi 

किस तवक्को पे किसी को देखें 

कोई तुम से भी हसीं क्या होगा


इक सफीना है तेरी याद अगर

इक समुन्दर है तेरी तन्हाई


मैंने  तो  समझा था लौट आते हैं जाने वाले

तूने जाकर तो जुदाई मेरी किस्मत कर दी

 

hindi shayari ahmad nadem qasmi

 इन्हे भी पढ़ें:- 

👉 निदा फ़ाज़ली शायरी

👉 मजरूह सुल्तानपुरी शायरी

👉 गुलज़ार साहेब की मशहूर शायरी

👉 बशीर बद्र शायरी 

👉 मजरूह सुल्तानपुरी शायरी

👉 राहत इंदौरी की मशहूर शायरी

👉 मिर्जा गालिब शायरी

👉 जावेद अख्तर शायरी

और नया पुराने