दर्द भरी दिवाली शायरी diwali sad shayari images

Diwali sad shayari with image download, Happy diwali sad shayari pics.दर्द भरी दिवाली शायरी  sad diwali love shayari


दीयों की रौशनी से भी 
मेरी रात नहीं हो रही उजाली
तुम्हारे बिना बड़ी सुनी सुनी 
लग रही है आज दिवाली 


रात थी काली   
ज़िन्दगी थी खाली
सब कुछ बदल गया 
जब  आयी दिवाली 


आँखों में आंसू लिए 
मुस्कुराएं कैसे
दिवाली का दिया जलाएं तो
जलाएं  कैसे 

diwali sad shayari

दिवाली तुम भी मनाते हो
दिवाली हम भी मनाते हैं
बस फ़र्क़ सिर्फ इतना हैं की
हम दिए जलाते हैं
और तुम दिल जलाते हो

दिवाली दर्द भरी शायरी sad diwali shayari foto

आसानी से दिल लगाए जाते हैं,
मगर मुश्किल से वादे निभाए जाते हैं
मोहब्बत ले आती हैं उन राहों पे,
जहाँ दियो के बदले दिल जलाये जाते हैं

तुम्हें इस जन्म में बहुत मिस करेंगे यार,
तेरे बिना फीका रहेगा हमारे लिए हर त्यौहार

गैरों की याद में मुझे ना भुला देना,
जब कभी याद आए तो  मुस्कुरा देना,
ज़िंदा रहे तो फिर मिलेंगे,
वरना दिवाली में एक दिया
मेरे नाम का भी जला देना

रौशनी भी होगी, होंगे चिराग भी,
आवाज़ भी होगी, होंगे साज़ भी
ना होगी उसकी परछाई, ना उसकी आहट
बहुत उदास होगी ये दिवाली की शाम 
बिन सनम कैसे मिलेगी मुझे राहत 

bhai ki yaad me sad diwali shayari 

सारी रात पटाखे फोड़ते
हम में से कोई नहीं सोता,
पार्टी होती जश्न मनाते
अगर तू साथ होता
miss you bro 

 

बिन  सनम  कैसे  हम  दिवाली  मनाये 
तन्हाई  में  ख़ुशी  के  दीप  कैसे  जलाये 
दियो  की  रोशनी  से  जलाता  है  मेरा  दिल 
केहदो  इन  दियो  से  ये  दिवाली  न  मनाये 

झिलमिलाते दियो की रौशनी से 
सजी ये महफ़िल बड़ा सताती हैं
उसके साथ मनाई दिवाली की रात 
मुझे बहुत याद आती हैं

आज रात है रोशन और 
दिए झिलमिला रहे हैं 
खुश है वो 
तो खुशिया हम भी मना रहे हैं 
भूलकर मोहब्बत अपनी अपनी 
दिवाली वो भी मन रहे है
 दिवाली हम भी मन रहे है 

रात दिवाली की है मगर तक़दीर में अँधेरा हैं,
ना चाहते थे गम के बादल, ना आया सवेरा हैं,
जुदा हमारा होना यूँ लिखा लकीरो में था मगर
इस में कसूर-ए-सनम ना तेरा ना मेरा हैं


Diwali sad shayari  

Previous Post Next Post