-->

Mahakal Status in Hindi - Mahakal Shayari Lord Shiv Shayari

आप हमारे ब्लॉग पर Mahakal Bhole bhandari status से संबंधित quotes पढ़ सकते हैं , यहां हम भगवान शिव shanker | Lord Shiva Shayari | Shiv Shayari | Shivshankar Shayari | Shiv devotee Shayari | Lord Shiva’s poetry | Bholenath Shayari | O Shankar Shayari Nikhilkath Shayari | Lord Shiv Shayari | Shiva poetry poem in Shiva Shayari Hindi | Shiv Shayari  से जुड़े Shayari Aur Status  को साझा करते हैं और आप हमारे ब्लॉग पर भगवान Mahadev ji की कविता की एक झलक प्राप्त कर सकते हैं, और आप कई अन्य Status भी पढ़ सकते हैं।

shiv status




ॐ✋विश्व का कण कण शिव मय हो

अब हर शक्ति का 🌗🌗अवतार उठे

🌠जल थल और अम्बर से फिर🌜

बम👻 बम भोले की जय जयकार उठे👀 !


 Mahakal status  Shayari Lord Shiv Shayari

 

🌓सुबह सुबह ले शिव का नाम👃💧 शिव करेंगें तेरे काम

ॐ नमः शिवाय😐 !


𛲣जिनके रोम रोम में 🙏शिव हैं वही विष पिया करते हैं

𝀦जमाना उन्हे क्या 𐇦जलाएगा

जो 🙋श्रृंगार ही अंगार से किया करते हैं😮

जय भोलेनाथ शिव शम्भू♛🀦 !


शिव अनादि हैं अनन्त हैं विश्वविधाता हैं

सारे संसार में एक मात्र महादेव ही हैं

जो जन्म मृत्यू एवं काल के बंधनो से अलिप्त स्वयं महाकाल हैं !


मुझे अपने आप में कुछ यु बसा लो

के ना रहू जुदा तुमसे और खुद से तुम हो जाऊ !


शव हूँ मैं भी शिव बिना शव में शिव का वास

शिव मेरे आराध्य हैं मैं हूँ शिव का दास

हर हर महादेव !


Mahakal Bhole bhandari Lord Shiv Shayari

शिव

मेरेनयनो मे दर्शन हो नयनो मे इतने चाह देना

मेरेहृदय मे वास हो हृदय मे इतना प्रेम देना

मेरे मस्तक मे भाव हो मस्तक मे इतना ज्ञान देना !


काल भी तुम महाकाल भी तुम

लोक भी तुम त्रिलोक भी तुम

शिव भी तुम और सत्य भी तुम

जय श्री महाकाल


कर्ता करे न कर सके

शिव करे सो होये

तीन लोक नो खंड में

शिव से बड़ा ना कोय !

status  Mahakal Shayari Lord Shiv Shayari



विभत्स हूँ

विभोर हूँ

मैं समाधी में ही चूर हूँ

मैं शिव हूँ मैं शिव हूँ मैं शिव हूँ

जय शिव शंकर


शिव के चरणों में है मिलते

सारे तीरथ चारों धाम

करनी का सुख तेरे हाथों

शिव के हाथों में परिणाम

ॐ नमः शिवाय


भक्ति ऐसी धड़कन बन जाए साँस आए तो नाम शिव का आए

शिव भक्ति का नशा ऐसा छा जाए बंद हो आँखें भी तो नज़र मेरे भोलेनाथ ही आए

हर हर महादेव !


Lord Shiv Shayari Shivshankar Shayari hindi

तुझसे ही सुबह तुझसे ही शाम है

मेरी हर धड़कन में तेरा ही नाम है

अब सांसे भी मिलेंगी और आग भी लगेगी

मेरा तो अब बस तू ही एक मुकाम है !

ॐ नमः शिवाय


गंगा हो तुम तुम्हे धारण करने लिए

मुझे शिव होना होगा

ॐ नमः शिवाय


व्याप्त हैं शिव सृष्टि में

शिव सत्य दोनों एक हैं

शिव कृपा से सत्य का पथ

दृष्टिगत हो आपको

जय शिव शंभो

हर हर महादेव


मैँ‬ और ‪मैरा‬ ‪शिवा‬ दोनो ही बङे ‪भुलक्कङ‬ है

वो मेरी गलतियां‬ भूल जाते है और मै उनकी मेहरबानियों को !


शिवाय चिलम शायरी !

महाकाल शायरी !

हर हर भोले नमः शिवाय ॐ

शंकर शम्भू नमः शिवाय ॐ



मेरे जिस्म जान में ‪‎भोलेनाथ‬ नाम तुम्हारा है

आज अगर मैं खुश हूँ तो यह एहसान भी तुम्हारा है

थामा हुआ है हाथ मेरा आपने मुझको मालूम है

मेरे हर पल हर लम्हे में मेरे भोलेनाथ प्यार तुम्हारा है


new 2022 Lord Shiv Shayari in hindi

एक नाम जिसके होने से है वजूद मेरा

हर-हर महादेव


हरआरम्भ का मैं ही अंत हूँ

हरअंत सदैव मेरा ही आरम्भ होगा

मैं केवल शिव ही नही सदाशिव हूँ !


जो दिख रहा है वो शव है

ओर जो देख रहा है शिव है

शव होने से पहले शिव को पहचान

वरना आखिरी मंजिल शमशान !


यदि मेरे भक्त के मन में सच्ची श्रद्धा है

तो उसका हृदय ही कैलाश है

मैं वहीं वास करता हूँ,

दया करो शिव गंगाधारी

कृपा करो हे त्रिपुरारी !


सिर्फ कह देने से कोई भगवान नहीं हो जाता

विष पान करना पड़ता है शिव शंकर की तरह !


झुकता नही शिव भक्त किसी के आगे

वो काल भी क्या करेगा महाकाल के आगे

जय श्री महाकाल


खुल चूका है नेत्र तीसरा शिव शम्भू त्रिकाल का

इस कलयुग में वो ही बचेगा जो भक्त होगा महाकाल का !


Lord Shiv Shayari in hindi

हरी और हर में मुझे कोई अंतर नहीं

राम और शिव में मुझे कोई फर्क नहीं

हरि हर शिवराम


शिवसत्य हैशिव अनंत है,

शिवअनादिहै शिव भगवंत है.

शिवओंकार हैशिव ब्रह्म है

शिवशक्ति है शिवभक्ति है !


ॐ वरुणस्योत्तम्भनमसि वरुणस्य सकम्भ सर्ज्जनीस्थो

वरुणस्य ऋतसदन्यसिवरुणस्य ऋतसदनमसि वरुणस्य ऋतसदनमासीद्

ॐ नमः शिवाय


मिलावट है भोलेनाथ

तेरे इश्क में इत्र और नशे की

तभी तो मैं थोडा

महका हुआ और थोडा बहका हुआ हूँ !


तैरना है तो समंदर में तैरो नदी नालों में क्या रखा है

प्यार करना है तो शिव से करो

इन बेवफा ओ में क्या रखा है

जय शिव सम्भू


ऐ जन्नत अपनी औकात में रहना हम तेरी जन्नत के मोहताज नही

हम गुरू भोलेनाथ के चरणों के वासी है वहाँ तेरी भी कोई औकात नही

जय महाकाल


मेरे जिस्म जान में भोलेनाथ नाम तुम्हारा है

आज अगर मैं खुश हूँ तो यह एहसान भी तुम्हारा है

थामा हुआ है हाथ मेरा आपने मुझको मालूम है

मेरे हर पल हर लम्हे में मेरे भोलेनाथ प्यार तुम्हारा है !


Lord Shiva Shayari in Hindi | Shiva Shayari in Hindi | Bholenath Shayari | Shayari addition | Mahakal Shayari | Shiva devotee Shayari | Shiva’s poetry | Lord Shiva Shayari | Shiva’s poetry | Shiv Shayari | Shiv Shayari | Shankar ji shayari.

Previous Post Next Post