-->

suvichar hindi download photo hd


सुप्रभात सुविचार अनमोल वचन

कभी किसी को इतना भी मत डराओ कि उसका  डर ही खत्म हो जाए.


दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं विनर और लूजर.

लेकिन जिंदगी हर लूजर को एक मौका जरूर देती है

जिसमें वह विनर बन सकता है..


ईर्ष्या मनुष्य को ठीक उसी प्रकार खा जाती है 

जिस प्रकार कपड़े को कीड़ा खा जाता है


सबसे उन्नत व्यक्ति वह है जो अपनी 

प्रगति के लिए सबसे अधिक परिश्रम करता है


जिसने ठान लिया मंजिल को पाना 

फिर वो चाहे कितनी बार गिरे 

फिर से उठ कर वो भागेगा 

जब तक लक्ष्य उसे मिल नहीं जाता 


मन  का अपना एक अलग स्थान है

वह स्वर्ग को नरक में और 

नरक को स्वर्ग में बदल सकता 


जिनका हृदय वैर या द्वेष की आग में जलता है, 

उन्हें रात में नींद नहीं आती


ईश्वर प्राप्ति की सबसे सुन्दर विधि निष्काम सेवा है


मनुष्य अपने भाग्य का निर्माता स्वयं है


जो हम दूसरों को देंगे.. वही एक दिन लौटकर वापस हमारे पास आएगा, 

फिर चाहे वो सम्मान हो, इज़्ज़त हो या फिर धोखा हो।


धैर्य होना बहुत आवश्यक है, 

माली चाहे किसी पेड़ को कितना भी पानी दे ले, 

लेकिन फल तो वक़्त आने पर ही लगेंगे...।


              खुद ही उठाना पड़ता है थका टूटा बदन अपना,

जब तक साँसें चलती है, कोई भी कंधा नहीं देता...!


सबसे खतरनाक - घृणा

सबसे बड़ी बाधा - अधिक बोलना 

सबसे बड़ा पाप - भय 

सबसे बुरी भावना - इर्ष्या 

विश्वसनीय मित्र - अपना हाथ

सबसे बड़ी भूल - समय की बर्बादी 

कभी न वापस मिलने वाला - खोया सम्मान


पछतावा अतीत नहीं बदल सकता 

और चिंता भविष्य नहीं सँवार सकती...


वर्तमान का आनंद लेना ही जीवन का सच्चा सुख है..!!

🌺स्वस्थ रहें मस्त रहें 🌺


मदद करना सीखिए फायदे के बगैर..!

मिलना-जुलना सीखिए मतलब के बगैर..!

ज़िन्दगी जीना सीखिए  दिखावे के बगैर..!

मुस्कुराना सीखिए सेल्फी के बगैर..!

और प्रभु पर विश्वास रखिये  किसी शंका के बगैर...!!


हम उन्हे ही रुलाते हैं , जो हमेशा हमारी परवाह करते हैं..

( माता / पिता / पत्नी )


हम उनके लिए रोते है, जो हमारी परवाह नहीं करते..

(औलाद ) 


और हम उनकी परवाह करते हैं , जो हमारे लिए कभी भी नहीं रोयेगें ...!

( समाज )


सभी इंसान है, लेकिन फर्क सिर्फ इतना है...

         कुछ जख्म देते है,  कुछ जख्म भरते हैं।


नादान से भी दोस्ती कीजिए ज़नाब..क्यों कि...

मुसीबत के वक़्त कोई भी समझदार साथ नही देता है


जब लोग मुझे पत्थर मारने आये तो, उसमे वो लोग भी शामिल थे....!

जिनके सभी गुनाह कभी हम अपने सर ले लिया करते थे..


हमे पुनःप्रयास करने से कभी भी नहीं घबराना चाहिए...

क्योंकि... अगली बार शूरुआत शून्य से नही, अनुभव से होगी..


✍ आपका दिन शुभ हो✍

दूसरों का सौभाग्य देखकर कभी भी ईर्ष्या ना करो 

क्योकि... इस दुनिया मे ऐसे लोगों की कमी नही है 

जो आपका स्थान लेने के लिए उत्सुक हैं...!


दूसरों की खुशी में अपनी खुशी देखना भी एक बड़ा हुनर है 

जिस इंसान को सबकी खुशी अपनी खुशी लगती है 

वो इंसान कभी भी दुखी नही रह सकता


अगर आप का कुछ तोड़ने का मन करे,

      🐾तो मेरा ग़रूर तोड़ देना..🐾


अगर आप का कुछ जलाने का मन करे,

      🐾तो मेरा क्रोध जला देना.. 🐾


अगर आप का कुछ बुझाने का मन करे,

       🐾तो मेरी घृणा बुझा देना..🐾


अगर आप का मारने का मन करे,

      🐾तो मेरी इच्छा को मार देना..🐾


अगर आप का प्यार करने का मन करे,

      🐾तो मेरी ओर देख लेना..🐾 


मैं शब्द, तुम अर्थ, तुम बिन मैं व्यर्थ

                🌞 सुप्रभात 🌞


जल जब गन्दा हो तो उसे हिलाते नहीं 

बल्कि शान्त छोड़ देते हैं..

गन्दगी अपने आप ही नीचे बैठ जाती है,


ठीक इसी प्रकार जीवन में परेशानी आने पर 

बेचैन होने के बजाय शान्त रहकर के विचार करें उसका हल जरूर ही निकलेगा


जिंदगी में हमेशा एक दूसरे को...

समझने का प्रयत्न किया करो...

परखने का नहीं...


 विश्वास में विष भी है ओर आस भी है l

यह स्वयं पर निर्भर करता है 

    कि.. हमे क्या ग्रहण करना है..!!🙏🙏


सुन्दरता सस्ती है, चरित्र महंगा है,

घड़ी सस्ती है, और समय महंगा है...


शरीर सस्ता है, जीवन महंगा है,

रिश्ता सस्ता है, लेकिन निभाना महंगा हैं


चालाकियों से तो कुछ देर के लिये ही किसी को मोहित किया जा सकता है, 

दिल जीतने के लिए तो सरल, सहज होना बहुत जरुरी है...!!


खुश रहकर के गुजारो, तो मस्त है जिदंगी,!

दुखी रहकर के गुजारो,तो त्रस्त है जिंदगी!

तुलना में रहकर गुजारो, तो पस्त है जिंदगी!

इतंजार में रहकर गुजारो, तो सुस्त है जिंदगी!

सीखने में गुजारो, तो किताब है जिंदगी!

दिखावे में रहकर गुजारो, तो बर्बाद है जिदंगी!

मिलती है सिर्फ एक बार, प्यार से बिताओ जिदंगी!

जन्म तो रोज होते हैं, बस यादगार बनाओ जिंदगी!


आपके सफल होते ही ये दुनिया आपके अंदर अनेक खूबियां ढ़ूँढ़ लेती है,

और आपके असफल होते ही हज़ार कमिया..!!


गलतियाँ, विफलता, अपमान, निराशा और अस्वीकृति,

ये सभी उन्नति और विकास का ही एक हिस्सा है।


कोई भी व्यक्ति इन सभी पाँचो चीजों को सामना किये 

बिना जीवन में कुछ भी प्राप्त नहीं कर सकता.


पहले गरीबी थी जो हम सबको एक आंचल में सुला देती थी,

और अब अमीरी आ गई तो सबको अलग- अलग मक़ान चाहिए...!!


सुख और दुख में, कोई ज्यादा भेद नहीं है..

जिसे हमारा मन स्वीकारे वह सुख, और जिसे

हमारा मन अस्वीकारे वह दुख.!


अगर आप शांत रहकर के अपने जवाब का इंतज़ार करते हैं, 

तो आपका अपना मन ही आपके ज्यादातर सवालों का जवाब दे देगा।


आप अपने मन की हर एक शंका को दूर करने के लिए अपने मन को शांत और स्थिर रखें..


समय और शब्द दोनो का उपयोग लापरवाही से 

कभी ना करे क्योंकि.. 

ये दोनो ना ही दुबारा आते है न ही और मौक़ा देते है...!!


विचारों को वश में रखिये.. वह आपके शब्द बनेंगे... !

शब्दों को वश में रखिये.. वह आपके कर्म बनेंगे...!

कर्मों को वश में रखिये.. वह आपकी आदत बनेंगे...!

आदतों को वश में रखिये.. वह आपका चरित्र बनेगा...!


जानकारी किसी भी उम्र में आ सकती है..!

परंतु अनुभव..आज भी उम्र का इंतज़ार करता है...!!


कौन क्या कर रहा है, क्यों कर रहा है,कैसे कर रहा है...

इन सब बातो से आप जितना दूर रहेंगे आप

उतना ही खुश रहोगे..!!


जिन्दगी की तपिश को सहन करे जनाब....

अक्सर वह पौधे मुरझा जाते हैं,

 जिन पौदो की परवरिश छाया में होती है


कभी-कभी तो हमें उन लोगों से शिक्षा मिलती है..!

जिन्हें हम अभिमान वश अज्ञानी समझते है...!!


बुरा वक़्त..एक ऐसी तिजोरी हैं..!

जहाँ से सफलता के TOOL मिलते हैं...!!


अगर मुस्कुराहट के लिए आपने

ईश्वर का शुक्रिया नहीं किया,

तो आँखों मे आये आँसुओं के लिये...

शिकायत का हक़ कैसा...?


तारीफ़ करने वाले लोग आपको अवश्य ही जानते पहचानते होंगे,

मगर... आपकी चिंता करने वालो को तो आपको ही पहचानना होगा..!


प्रेम और नम्रता एक ऐसी महक हैं..!

जिसकी खुशबु से परम-पिता परमात्मा भी..!

मनुष्य की तरफ खींचे चले आते हैं..


समझदार होने का सबसे बड़ा नुकसान ये होता है की....

दिल की हजारों ख्वाहिशें, दिल मे ही रह जाती हैं..!


बुढ़ापे में आपको रोटी 

आपकी औलाद नहीं 

आपके दिए हुए संस्कार ही खिलाएंगे...


अगर मशीन को जंग लग जाए तो पुर्जे शोर करते हैं..!

और..अक्ल को जंग लग जाए तो ज़ुबान शोर करती है


जीत किसके लिए, ये हार किसके    लिए...  

 ज़िंदगी भर ये तकरार किसके    लिए....

 जो भी आया है वो जायेगा एक दिन यहाँ से

 फिर ये इंसान को इतना अहंकार किसके लिए..


भगवन बोलते है 

तू करता वही है  जो तू चाहता है पर होता वही है  जो मैं चाहता हूँ 

तू वही कर जो मै चाहता हूँ फिर होगा वही जो तू चाहता है 


अचानक एक मोड पर सुख और दुख की मुलाकात हो गई

दुख ने सुख से कहा- तुम बहुत ही भाग्यशाली हो, 

जो की सब लोग तुम्हें ही पाने की कोशिश में लगे रहते हैं...

सुख ने मुस्कुराते हुए कहा - भाग्यवान मैं नहीं, तुम हो...!

दुख ने हैरानी से पूछा - वो कैसे? 

सुख ने बडी ईमानदारी से जवाब दिया - वो ऐसे कि तुम्हे 

पाकर लोग GOD को याद करते हैं, लेकिन मुझे पाकर सब GOD को भूल जाते हैं


हालात को कभी ऐसा ना होने दो..कि आप अपनी हिम्मत हार जाए...

बल्कि हिम्मत ऐसी रखे.. कि हालात हार जाए...।


मुसीबत में फंस जाने पर मनुष्य को वास्तु दोष, गृह दोष, पितृ दोष ,

शनि दोष , कालसर्प दोष यह सब दिखाई देने लगते हैं, 

केवल खुद का दोष दिखाई नहीं देता है 


जीवन मे सिर्फ दो नियम हमेशा याद रखना 

मित्र अगर सुख मे हो तो आमंत्रण के बिना जाना नही .. !!

और अगर मित्र मुसीबत मे हो तो आमंत्रण का इन्तजार कभी नहीं करना


क्योंकि, वो दूसरों की नकल करते है 

पर वे यह नहीं समझते कि सभी के प्रश्न पत्र भिन्न है 

और नया पुराने