Attitude Status Shayari In Hindi for facebook & whatsapp



attitude status hindi



हमें #शादी का कोई_शौक नहीं है #कसम से, ये तो आने_वाले #बच्चों की ज़िद है की #मम्मी चाहिए |

वो मंजिल ही #बदनसीब थी_जो #हमे पा न सकी वरना #जीत की क्या #औकात जो_हमे ठुकरा दे |

तेवर और #जेवर सम्हाल के_रखने की चीज है, यूँ #बात बात में हर किसी को #दिखाये नहीं जाते |

Aukat Status
रेगिस्तान भी हरे हो_जाते है, जब #अपने साथ अपने भाई #खड़े हो जाते हैं।

आंधी तुफान से वो_डरते है #जिनके मन मेँ प्राण बसते हैँ, #जिनके #मन मे ‪महाकाल बसते हैँ..वो #मौत देखकर_भी हँसते हैँ।

तेवर तो हम वक्त #आने पे दिखायेंगे शहेर तुम #खरीदलो उस पर हुकुमत #हम चलायेंगे |

मैं इतनी #कामयाबी_हासिल #करूँगा की, तुझे माफी #माँगने_के लिए भी लाईन में #खड़ा_होना पड़ेगा |

साली कई लडकियां तो_मुझे #Online देखकर भी जलती हैं, और सोचती हैं की, ए लडका_मुझसे #बात नहीं कर रहा तो, #किसके साथ #कर रहा होगा |

बस #लड़का_समझदार होना_चाहिये, उसे #पागल तो मैं खुद #कर दूँगी।

Aukat Whatsapp Status

मुझे भले ही #लाखो देखतें_हो, पर जिसे मैं #देखूंगी वो #करोड़ो में एक_होगा।

चाहे दुश्मन हो #कितना_भी पापी, #उसके लिए हम है #अकेले_ही काफी।

हम #आपको सिर्फ_एक बात समझाना चाहते हैं, #मतलबी_लोगो से तो #अपनी तन्हाई सौ #गुना बहतर है।

मुझे #हराकर कोई_मेरी जान भी ले जाए #मुझे मन्जूर है, लेकिन धोखा देने_वालों को मै #दुबारा मौका नही_देता।

कमियाँ तो_बहुत है मुझमे, पर #कोई निकाल_कर तो #देखे |

Akad Khandani Status


चलो फिर से_होले से #मुस्कुराते है_बिना माचिस के ही #लोगो को #जलाते है |

तू #वाकिफ़_नहीं हे मेरे जनून से #नहला दूंगा_तुझे तेरे ही #खून से |

लोग #कहते है की_मेरा भी #समय आएगा मै कहता हूँ की #मेरा समय मै खुद लाऊंगा |

तेवर न दिखाओ_तो #लोग आँख दिखाने लग #जाते हैं |

हाथ में #खंजर ही नहीं_आँखों में #पानी भी_चाहिए हमे #दुश्मन भी थोडा#_खानदानी चाहिए |

अपनी #औकात में_रहना सीख लो, वरना #जो_हमारी आँख में खटकते है वो_शमशान में #भटकते हैं।

हमारी #रगों में वो_खून दोड़ता है,#जिसकी एक बूंद अगर_तेजाब पर गिर जाये तो #तेजाब जल जाये |

प्यार के दो मीठे बोल से खरीद_लो मुझे, #दौलत की सोचोगे तो पूरी दुनिया_बेचनी #पड़ेगी तुम्हे।

शिकवा #तकदीर का_ना शिकायत अच्छी, #खुदा जिस हाल_मे रखे वही #जिंदगी_अच्छी |

यूँ न देख #नफरत से_मुझे, वही चेहरा है जिसे #आपने टूट कर #चाहा_था !!

जो पहली#_मोहब्बत में #हार जाते हैं वो_दुसरे इश्क़ में_कमाल #कर जाते हैं !

Attitude_तो #बच्चे दिखाते है हम तो लोगो_को #उनकी_औकात दिखाते है !

ऐटिटूड_दिखना तो #बच्चो का काम, हम_तो सीधा #लोगो को उनकी #औकात_दिखाते है !

जो #आदमी_लिमिट में रहता हैं, वो #ज़िन्दगी भर_लिमिट में #ही रह जाता हैं |

अपने बाप के #सामने_अय्याशी, और हमारे सामने #बदमाशी भूल #कर भी मत करियो।

एक #बार उसके रोने_पर उसके ‪#होंठो को क्या _चुमलिया, अब तो ‪पगली हर_रोज ‪रोने का ‪#बहाना करती है |

Aukat Status For Whatsapp


शुरुआत_से #देखने का_शोख है हमे…! चाहे वो# फिल्म हो या #दुश्मनकी_बर्बादी |

खेल #ताश का_हो या जिंदगी का ,अपना #इक्का_तब ही #दिखानाजब_सामने बादशाह हो ।

जिंदगी का_असली मजा तो #तब आता है_जब #दुश्मन भी आपसे हाथ #मिलाने_को बेताब_रहे।

ये तो बड़ा_मुझ पर #अत्याचार_हो गया खामख्वाह #मुझे तुझसे_प्यार हो #गया |

हमारा‪ #जीने‬ का_तरीका थोड़ा‪ _अलग‬ हैं, हम‪ ‎#उम्मीद‬ पर नहीं अपनी ‎#जिद‬_पर जीते है |

बारुद #जैसी है_मेरी शक्शीयत, जहा से #गुजरता हुं,_लोग #जलना शुरु कर_देते हैं |

ये तो HUM_हैं जो #अपना प्यार निभा रहे हैं_जिस #दिन छोड़कर चले गए #Aukaat पता_चल #जाएगी तुझे।

नाम एक #दिन में नहीं_बनता पर एक दिन #जरूर_बनता हैं |

सभी हीरो नहीं बन सकते_हीरों के गुजरने पर #तालियां_बजाने के लिए भी_तो, कुछ #लोगों की_जरूरत #पड़ती है |

#तू हज़ार बार भी रूठे तो_मना #लूँगा तुझे, मगर देख_मुहब्बत में शामिल_कोई #दूसरा ना हो |

जब #आप_किसी लड़की को #बदल_नहीं सकते तो #बदल दो_साली को |

Aukat Attitude Status For Boy


जब तु #चलती है तो_जमाना ‎रुक_जाता है, #लेकिन मैँ जब_चलता हुँ तो जमाना _झुक जाता है |

हीरो #मरने के बाद_स्वर्ग जा ता हैं मगर #विल्लन तो_मरने से पहले ही #सवर्ग_पता हैं |

#पगली तू सिर्फ_Status देख, प्यार तो #अपने_आप हो #जायेगा |

मेरे ‪साथ #रहना है, तो_मुझे ‪‎सहना #सिख, वरना_अपनी ‪‎#औकात में रहना_सिख.. |

अकल #कितनी भी_तेज_ह़ो #नसीब के बिना नही जित_सकती, बिरबल_काफी #अकलमंद_होने के #बावजूद.. कभी #बादशाह नही बन सका ।

मेरी ख़ामोशी_से #किसी को कोई_फर्क_नहीं पड़ता,_और #शिकायत_में दो लफ्ज़ कह_दूँ तो वो चुभ #जातें हैं।

मुझे क्या #डराएगा मौत का_मंज़र_हमने तो #जन्म ही #कातिलो की बस्ती में_लिया हैं |

हर किसी के #हाथ में बिक जाने को _हम तैयार नहीं ये _#हमारा दिल है तेरे शहर का #अख़बार नहीं |

माचिस तो यूं #ही बदनाम है, हमारे_तेवर तो #आज भी आग #लगाते हैं।

हमें #शादी का कोई_शौक नहीं है #कसम से, ये तो आने_वाले #बच्चों की ज़िद है की #मम्मी चाहिए |

साली कई लडकियां तो_मुझे #Online देखकर भी जलती हैं, और सोचती हैं की, ए लडका_मुझसे #बात नहीं कर रहा तो, #किसके साथ #कर रहा होगा |

बस #लड़का_समझदार होना_चाहिये, उसे #पागल तो मैं खुद #कर दूँगी।

#रेगिस्तान भी हरे हो_जाते है, जब #अपने साथ अपने भाई #खड़े हो जाते हैं।

आंधी तुफान से वो_डरते है #जिनके मन मेँ प्राण बसते हैँ, #जिनके #मन मे ‪महाकाल बसते हैँ..वो #मौत देखकर_भी हँसते हैँ।

वो मंजिल ही #बदनसीब थी_जो #हमे पा न सकी वरना #जीत की क्या #औकात जो_हमे ठुकरा दे |

वो मंजिल ही #बदनसीब थी_जो #हमे पा न सकी वरना #जीत की क्या #औकात जो_हमे ठुकरा दे |

तेवर तो हम वक्त #आने पे दिखायेंगे शहेर तुम #खरीदलो उस पर हुकुमत #हम चलायेंगे |

मैं इतनी #कामयाबी_हासिल #करूँगा की, तुझे माफी #माँगने_के लिए भी लाईन में #खड़ा_होना पड़ेगा |

#साली कई लडकियां तो_मुझे #Online देखकर भी जलती हैं, और सोचती हैं की, ए लडका_मुझसे #बात नहीं कर रहा तो, #किसके साथ #कर रहा होगा |

बस #लड़का_समझदार होना_चाहिये, उसे #पागल तो मैं खुद #कर दूँगी।

मुझे भले ही #लाखो देखतें_हो, पर जिसे मैं #देखूंगी वो #करोड़ो में एक_होगा।

चाहे दुश्मन हो #कितना_भी पापी, #उसके लिए हम है #अकेले_ही काफी।

हम #आपको सिर्फ_एक बात समझाना चाहते हैं, #मतलबी_लोगो से तो #अपनी तन्हाई सौ #गुना बहतर है।

मुझे #हराकर कोई_मेरी जान भी ले जाए #मुझे मन्जूर है, लेकिन धोखा देने_वालों को मै #दुबारा मौका नही_देता।

#कमियाँ तो_बहुत है मुझमे, पर #कोई निकाल_कर तो #देखे |

चलो फिर से_होले से #मुस्कुराते है_बिना माचिस के ही #लोगो को #जलाते है |

तू #वाकिफ़_नहीं हे मेरे जनून से #नहला दूंगा_तुझे तेरे ही #खून से |

लोग #कहते है की_मेरा भी #समय आएगा मै कहता हूँ की #मेरा समय मै खुद लाऊंगा |

#तेवर न दिखाओ_तो #लोग आँख दिखाने लग #जाते हैं |

हाथ में #खंजर ही नहीं_आँखों में #पानी भी_चाहिए हमे #दुश्मन भी थोडा#_खानदानी चाहिए |

अपनी #औकात में_रहना सीख लो, वरना #जो_हमारी आँख में खटकते है वो_शमशान में #भटकते हैं।

हमारी #रगों में वो_खून दोड़ता है,#जिसकी एक बूंद अगर_तेजाब पर गिर जाये तो #तेजाब जल जाये |

शिकवा #तकदीर का_ना शिकायत अच्छी, #खुदा जिस हाल_मे रखे वही #जिंदगी_अच्छी |

यूँ न देख #नफरत से_मुझे, वही चेहरा है जिसे #आपने टूट कर #चाहा_था !!

जो पहली#_मोहब्बत में #हार जाते हैं वो_दुसरे इश्क़ में_कमाल #कर जाते हैं !

ऐटिटूड_दिखना तो #बच्चो का काम, हम_तो सीधा #लोगो को उनकी #औकात_दिखाते है !

अपने बाप के #सामने_अय्याशी, और हमारे सामने #बदमाशी भूल #कर भी मत करियो।

एक #बार उसके रोने_पर उसके ‪#होंठो को क्या _चुमलिया, अब तो ‪पगली हर_रोज ‪रोने का ‪#बहाना करती है |

शुरुआत_से #देखने का_शोख है हमे…! चाहे वो# फिल्म हो या #दुश्मनकी_बर्बादी |

खेल #ताश का_हो या जिंदगी का ,अपना #इक्का_तब ही #दिखानाजब_सामने बादशाह हो ।

#जिंदगी का_असली मजा तो #तब आता है_जब #दुश्मन भी आपसे हाथ #मिलाने_को बेताब_रहे।

ये तो बड़ा_मुझ पर #अत्याचार_हो गया खामख्वाह #मुझे तुझसे_प्यार हो #गया |

हमारा‪ #जीने‬ का_तरीका थोड़ा‪ _अलग‬ हैं, हम‪ ‎#उम्मीद‬ पर नहीं अपनी ‎#जिद‬_पर जीते है |

बारुद #जैसी है_मेरी शक्शीयत, जहा से #गुजरता हुं,_लोग #जलना शुरु कर_देते हैं |

ये तो HUM_हैं जो #अपना प्यार निभा रहे हैं_जिस #दिन छोड़कर चले गए #Aukaat पता_चल #जाएगी तुझे।

नाम एक #दिन में नहीं_बनता पर एक दिन #जरूर_बनता हैं |

#सभी हीरो नहीं बन सकते_हीरों के गुजरने पर #तालियां_बजाने के लिए भी_तो, कुछ #लोगों की_जरूरत #पड़ती है |

तू हज़ार बार भी रूठे तो_मना #लूँगा तुझे, मगर देख_मुहब्बत में शामिल_कोई #दूसरा ना हो |

जब #आप_किसी लड़की को #बदल_नहीं सकते तो #बदल दो_साली को |

जब तु #चलती है तो_जमाना ‎रुक_जाता है, #लेकिन मैँ जब_चलता हुँ तो जमाना _झुक जाता है |

हीरो #मरने के बाद_स्वर्ग जा ता हैं मगर #विल्लन तो_मरने से पहले ही #सवर्ग_पता हैं |

पगली तू सिर्फ_Status देख, प्यार तो #अपने_आप हो #जायेगा |

मेरे ‪साथ #रहना है, तो_मुझे ‪‎सहना #सिख, वरना_अपनी ‪‎#औकात में रहना_सिख.. |

अकल #कितनी भी_तेज_ह़ो #नसीब के बिना नही जित_सकती, बिरबल_काफी #अकलमंद_होने के #बावजूद.. कभी #बादशाह नही बन सका ।

#मेरी ख़ामोशी_से #किसी को कोई_फर्क_नहीं पड़ता,_और #शिकायत_में दो लफ्ज़ कह_दूँ तो वो चुभ #जातें हैं।

मुझे क्या #डराएगा मौत का_मंज़र_हमने तो #जन्म ही #कातिलो की बस्ती में_लिया हैं |

हर किसी के #हाथ में बिक जाने को _हम तैयार नहीं ये _#हमारा दिल है तेरे शहर का #अख़बार नहीं |

माचिस तो यूं #ही बदनाम है, हमारे_तेवर तो #आज भी आग #लगाते हैं।
और नया पुराने