-->

Gam bhari shayari | dard bhari shayari | गम भरी शायरी हिंदी में

Aaj mai mai apke liye Gam bhari shayari shayari dard bhari zindagi hindidard bhari shayari punjabidard bhari shayari download.shayari haidard bhari shayari in hindi ,dard bhari shayari 140, post kar raha hu ,umeed  hai apko ye shayari pasand ayegi or aap hmari post ko share jarur karen .


dard shayari gam shayari

उलझी शाम को पाने की ज़िद न करो;
जो ना हो अपना उसे अपनाने की ज़िद न करो;
इस समंदर में तूफ़ान बहुत आते है;
इसके साहिल पर घर बनाने की ज़िद न करो।

आसमां में मत दूंढ अपने सपनों को,
सपनों के लिए ज़मीं भी जरूरी है,
सब कुछ मिल जाए तो जीने का क्या मज़ा,
जीने के लिये एक कमी भी जरूरी है..


आंसुओं की बूँदें हैं या आँखों की नमी है,
न ऊपर आसमां है न नीचे ज़मी है,
यह कैसा मोड़ है ज़िन्दगी का,
उसी की ज़रूरत है और उसी की कमी है..


होठो पे हसी आंखो मे मजबूरी सी लगी,
ज़िन्दगी मे पहेली बार किसी की दोस्ती इतनी ज़रूरी लगी..

gam shayari gham shayari 2 lines gam shayari 2020,


हर दोस्त की तनहाइयां दूर की!
लेकिन हर मोड़ पर आज खुद को अकेला पाया!!

अपने दिल की ज़मी पे तलाश कर मुझे,
अगर वहा नही तो कही नही 

तड़पते रहेँगे उसे देखने को,
लेकिन उसकी तरफ नज़रेँ उठाना छोड़ देँगे..


अगर बिकने पे आ जाओ तो,घट जाते हैं दाम अक़सर ,
न बिकने का इरादा हो,तो क़ीमत और बढ़ती है 


आपने नज़र से नज़र कब मिला दी,
हमारी ज़िन्दगी झूमकर मुस्कुरा दी,
जुबां से तो हम कुछ भी न कह सके,
पर निगाहों ने दिल की कहानी सुना दी..


आज किसी की दुआ की कमी है,
तभी तो हमारी आँखों में नमी है,
कोई तो है जो भूल गया हमें,
पर हमारे दिल में उसकी जगह वही है..




आँखों में रहा दिल में उतर कर नहीं देखा,
कश्ती के मुसाफिर ने समंदर नहीं देखा,
पत्थर मुझे कहता है मेरा चाहने वाला,
मैं मोम हूँ उसने मुझे छू कर नहीं देखा..

आँखों मे आ जाते हैं आँसू,फिर भी लबो पे हँसी रखनी पडती है,
ये मुहब्त भी क्या चीज है यारों,
जिस से करते हैं उसी से छुपानी पडती हैं..


आंखों देखी कहने वाले, पहले भी कम-कम ही थे,
अब तो सब ही सुनी-सुनाई बातों को दोहराते है..


आँखों के सामने हर पल आपको पाया हैं,
अपने दिल में भी सिर्फ आपको ही बसाया हैं,


आपके बिना हम जिए भी तो कैसे,
भला जान के बिना भी कोई जी पाया हैं..


एक अजीब सा मंजर नज़र आता हैं,
हर एक आँसूं समंदर नज़र आता हैं,
कहाँ रखूं मैं शीशे सा दिल अपना,
हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता हैं..



dard bhari shayari in hindi pyar ka dard shayari,



उसने पुछा,जिंदगी किसने बरबाद की हैं ?
हमने उंगली उठाई और अपने ही दिल पे रख दी


उस वक़्त भी अक्सर तुझे हम ढूंढने निकले ,
जिस धुप मे मज़दूर भी छत पे नहीं जाते ..


उल्फत का यह दस्तूर होता है,
जिसे चाहो वही हमसे दूर होता है,
दिल टूट कर बिखरता है इस क़द्र जैसे
,कांच का खिलौना गिरके चूर-चूर होता है!





उमर की राह मे रस्ते बदल जाते हैं,
वक्त की आंधी में इन्सान बदल जाते हैं,
सोचते हैं तुम्हें इतना याद न करें,
लेकिन आंखें बंद करते ही इरादे बदल जाते


उड़ा भी दो सारी रंजिशें इन हवाओं में यारो,
छोटी सी जिंदगी है नफ़रत कब तक करोगे,
घमंड न करना जिन्दगी मे तकदीर बदलती रहती है,
शीशा वही रहता है बस तस्वीर बदलती रहती है..


इस उम्मीद से मत फिसलो, कि तुम्हें कोई उठा लेगासोच कर मत डूबो दरिया में,
 कि तुम्हें कोई बचा लेगाये दुनिया तो एक अड्डा है, 
तमाशबीनों का दोस्तोंगर देखा तुम्हें मुसीबत में तो, यहां हर कोई मज़ा लेगा..


dard bhari shayari hindi mai


 आसूं तो कभी खुशी देखी..
हमने अक्सर मजबूरी और बेकसी देखी..
उनकी नाराजगी को हम क्या समझे..
हमने खुद कि तकदीर की बेबसी देखी


कुछ लोग दिल पर इस तरह असर कर जाते हैं,
टूटे हुए शीशों मे भी साबुत नज़र आते हैं,
मिलते तो हैं घड़ी भर के लिए
,मगर दिल में उतर जाते हैं..


ऐसे तेरी कमी सी लगती है,
आग जैसे हवा से सुलगती है,
याद आते है लम्हे सब बीते हुए,
जैसे जैसे यह शाम ढलती है..


ऐ समन्दर मैं तुझसे वाकिफ हूं मगर इतना बताता हूं,
वो आंखें तुझसे ज्यादा गहरी हैं जिनका मैं आशिक हूं..


ऐ दोस्त जिदगी भर मुझसे दोस्ती निभाना,
दिल की कोई भी बात हमसे कभी ना छुपाना,
साथ चलना मेरे दुख सुख मे,
भटक जाऊ मै कभी तो सही रास्ता दिखलाना।




एक दिन जब हम दुनिया से चले जायेंगे ,
मत सोचना हम आपको भूल जायेंगे,
बस एक बार आसमान के तरफ देखना,
मेरे पैगाम सितारों पर लिखे नज़र आएंगे..


एक दिन ख़ुदा ने मुझसे कहा:मत कर इन्तज़ार इस जन्म मेंउसका ,
मिलना मुश्किल है..मैंने भी कह दिया:लेने दे मज़ा इन्तज़ार का,
अगले जन्म मेंतो मुमकिन है..फिर ख़ुदा ने कहा:मत कर इतना प्यार,




एक तो तुम हसीन इतने हो,
उस पर अलफ़ाज़ भी रखते हो,
तुम ही कहो कोई क्यों ना दिल हारे,
दिलकश शायराना अंदाज़ भी रखते हो।


किस्मत पर नाज़ है तो वजह तेरी रहमत..खुशियां जो पास है 
तो वजह तेरी रहमत..मेरे अपने मेरे साथ है तो वजह तेरी रहमत.
.मैं तुझसे मोहब्बत की तलब कैसे न करूँ..
चलती जो ये सांस है तो वजह तेरी रहमत..


कहाँ मांग ली थी कायनात मैंने,
जो इतना दर्द मिला,
ज़िन्दगी में पहली बार खुदा,
तुझसे ज़िन्दगी ही तो मांगी थी।।


कहते है दोस्त मुझसे के तू कितना खुश नसीब है
,तू शायरी लिखता है,आज मैं कहता हूँ 
रब किसी को शायर न बनायेइस हुनर को पाने मे बड़ा दर्द होता है

shayari dard bhari zindagi hindi

कल रात को सपने में तुमसे मुलाकात हुई थी
कुदरत के नजारों के बीच बहुत सारी बात हुई थी
हमने रावी के किनारे पे खूब ठहाके मारे थेभीग गए थे 
अंदर तक प्यार की इतनी बरसात हुई थी


कल बड़ा शोर था मयखाने में,
बहस छिड़ी थी जाम कौन सा बेहतरीन है,
हमने तेरे होठों का ज़िक्र किया,और बहस खतम हुयी..


कल बड़ा शोर था मयखाने में,
बहस छिड़ी थी जाम कौन सा बेहतरीन है,
हमने तेरे होठों का ज़िक्र किया,और बहस खतम हुयी..


क्यों इतना करीब चला आता है 
कोईक्यों मुहब्बत का एहसास दिला जाता है 
कोईजब आदत सी हो जाती है 
इस दिल को उसकीतो क्यों फिर दूर चला जाता है कोई


क्यों इतना करीब चला आता है 
कोईक्यों मुहब्बत का एहसास दिला जाता है 
कोईजब आदत सी हो जाती है 
इस दिल को उसकीतो क्यों फिर दूर चला जाता है कोई

कभी रो लेने दो अपने कंधे पर सिर रखकर मुझे,
कि दद॔ का बवंडर अब संभाला नही जाता,
कब तक छुपा कर रखें आखों मे इसे,
कि आसुओं का समन्दर अब संभाला नही जाता..


कभी इनका हुआ हूं मै,कभी उनका हुआ हूं मैखुद के लिए कोशिश नहीं की,
मगर सबका हुआ हूं मैमेरी हस्ती बहुत छोटी, 
मेरा रूतबा नही कुछ भीलेकिन डूबते के लिए सदा तिनका हुआ हू मै

जरा ठहर ऐ जिंदगी तुझे भी सुलझा दुंगा ,
पहले उसे तो मना लूं जिसकी वजह से तू उलझी है..

dard bhari shayari in hindi 

ज्यादा जोर से पकड़ो, तो धागे टूट जाते है,
ये रिस्ते आइने से नाजुक गर छूटे तो फूट जाते है,
उन्हें मनाये तो बोलो कैसे मनाये?
जो थोड़े से मजाक में हमसे रूठ जाते है..


जब सामना हुआ उस बेदर्द से,
मुझसे मेरा दिल सवालात् करने लगा,कहता है, 
क्या यही है वो जिसके लिये तुने मुझे बेगाना कर दिया??
मैने कहा, अरे मेरे जिगर के टुकडे,
तु भी तो उस बेदर्द को देख रूक सा जाता था..


जख्म जब मेरे सीने के भर जायेंगें,
आसूं भी मोती बन कर बिखर जायेंगे,
ये मत पूछना किस-किस ने धोखा दिया,
वर्ना कुछ अपनों के चेहरे उतर जायेंगें..


छू ले आसमान ज़मीन की तलाश ना कर,
जी ले ज़िंदगी खुशी की तलाश ना कर,
तकदीर बदल जाएगी खुद ही मेरे दोस्त,
मुस्कुराना सीख ले वजह की तलाश ना कर.




जिनसे अक्सर रूठ जाते हैं,
हम असल में उनसे ही रिश्ते गहरे होते हैं..


खूबियाँ इतनी तो नही हम मे,कि तुम्हे कभी याद आएँगे,
पर इतना तो ऐतबार है हमे खुद पर,आप हमे कभी भूल नही पाएँगे..


कोई आँखों आँखों में बात कर लेता है,
कोई आँखों आँखों में इकरार कर लेता है,
बड़ा मुश्किल होता है जवाब दे पाना,
जब कोई खामोश रहकर भी सवाल कर लेता है !


कोई अच्छी सी सज़ा दो मुझको,
चलो ऐसा करो भूला दो मुझको,
तुमसे बिछडु तो मौत आ जाये,
दिल की गहराई से ऐसी दुआ दो मुझको..


किसी के धडकते दिल के पीछे कोई बात होती हैं,
किसी के उदास दिल के पीछे कोई याद होती हैं,
आप को पता हो या ना हो,
आप की खुशी के लिए कही रोज फरियाद होती हैं।



जिसके लिए चले थे सफर पर,
वो तो रास्ते में ही छोड़ गए,
अब रास्ता कही भी ले चले,
मंजिल से अपना कोई वास्ता नही.

जिस दिन बंद कर ली हमने आंखें,
कई आँखों से उस दिन आंसु बरसेंगे,
जो कहते हैं के बहुत तंग करते है हम,
वही हमारी एक शरारत को तरसेंगे..


ज़िन्दगी मुस्कुरा कर बोली 
मुझसे की हर सवाल का जवाब तुझ में हैं ,
ढूँढना है तोह खुद को पहचान,
फिर कहलायेगा तू सच्चा इंसान


जिन्दगीं में उस का दुलार काफी हैं,
सर पर उस का हाथ काफी हैं,
दूर हो या पासक्या फर्क पड़ता हैं,
माँ का तो बस एहसास ही काफी हैं !


जिन्दगीं में उस का दुलार काफी हैं,
सर पर उस का हाथ काफी हैं,
दूर हो या पासक्या फर्क पड़ता हैं,
माँ का तो बस एहसास ही काफी हैं !

pyar ka dard shayari dard bhari shayari hindi mai



ज़िंदा है शाहजहाँ की चाहत अब तक,
गवाह है मुमताज़ की उल्फत अब तक,
जाके देखो ताज महल को ए दोस्तों,
पत्थर से टपकती है मोहब्बत अब तक..


ज़िंदा है शाहजहाँ की चाहत अब तक,
गवाह है मुमताज़ की उल्फत अब तक,
जाके देखो ताज महल को ए दोस्तों,
पत्थर से टपकती है मोहब्बत अब तक..


जिंदा जिस्म में एक मरा हुआ दिल है,
ये बस हर किसी की नफरत के काबिल है,
पाकर किसी एक को ये भूला था अपनों को,
उसकी सजा में इसे आँसू ही हासिल है..


जिंदगी में कई उजले सवेरे गए,
फूलों से चुनकर रंग बिखेरे गए,
दस्तूर-ए-जिंदगी से न बच सके मगर,
वक्त की साजिश में हम भी घेरे गए..


जितना हीं मेरा मिज़ाज है सादा,
उतने हीं मुझे उलझे हुए लोग मिले..



तूफान मे लोगों को किनारे मिलते हैं
,जहाँ मे लोगों को सहारे भी मिलते हैं,
दुनिया मे सबसे प्यारी है ज़िंदगी,
कुछ लोग ज़िंदगी से भी प्यारे मिलते हैं..


तन की खूबसूरती एक भ्रम है,
पर सबसे खूबसूरत आपकी वाणी है,
चाहे तो दिल जीत ले,
चाहे तो दिल चीर दे..


तुझको छू लूँ तो फिर जाने तमन्ना मुझको,
देर तक अपने बदन से तेरी ख़ुशबू आए..


तुझे ही फुरसत ना थी किसी अफ़साने को पढ़ने की,
मैं तो बिकता रहा तेरे शहर में किताबों की तरह..


तू रूठा रूठा सा लगता है
,कोई तरकीब बता मनाने की,
मैं ज़िन्दगी गिरवी रख दूंगा
,तू क़ीमत बता मुस्कुराने की..

सोचा था इस कदर उनको भूल जाएँगे,
देखकर भी अनदेखा कर जाएँगे,
पर जब जब सामने आया उनका चेहरा,
सोचा इस बार देखले, 
अगली बार भूल जाएँगे..


सिरफिरे होते हैं इतिहास वो ही लिखते हैं..
समझदार तो सिर्फ उसे पढते हैं..।।

सिर्फ इशारों में होती महोब्बत
सिर्फ इशारों में होती महोब्बत अगर,
इन अलफाजों को खुबसूरती कौन देता,
बस पत्थर बन के रह जाता ‘ताज महल’,
अगर इश्क इसे अपनी पहचान ना देता..


होती नहीं है मोहब्बत सूरत से,
मोहब्बत तो दिल से होती है,
सूरत उनकी खुद-ब-खुद लगती है प्यारी,
कदर जिनकी दिल में होती है..


हंसो तो मुस्कराती है जिन्दगी,रोने पे आंसू बहाती है जिन्दगी,
प्यार दो तो संवर जाती है जिन्दगी,हाथ बढ़ाओ तो पास आती है
 जिन्दगी,जिस नजर से देखो वैसी नजर आती है जिन्दगी,
नजरिया बदलते ही बदल जाती है जिन्दगी.


तू तो वादा करके भी मुकर जाती है ,
तेरी याद बड़ी भोली है चली आती है |दिन तो जैसे तैसे गुजर ही जाता है ,
रात बेरहम है सितम ढाती है |एक आईने सा आसमान में टंगा चाँद ,
तस्वीर इसमें भी तेरी ही नजर आती है 


जो अपनी कमजोरियों मे आग लगा सकते है,
उन्हें हक है वो सूरज से आंख मिला सकते है,
बुलंदिया ही जिनका मकसद बन गई हों,

वो मुश्किलों से अपनी मंजिल छीन सकते है।
जो अपनी कमजोरियों मे आग लगा सकते है,
उन्हें हक है वो सूरज से आंख मिला सकते है,
बुलंदिया ही जिनका मकसद बन गई हों,
वो मुश्किलों से अपनी मंजिल छीन सकते है।


जीना चाहा तो जिंदगी से दूर थे 
हममरना चाहा तो जीने को मजबूर थे
 हमसर झुका कर कबूल कर ली 
हर सजाबस कसूर इतना था कि बेकसूर थे हम।




हंसो तो मुस्कराती है जिन्दगी,रोने पे आंसू बहाती है जिन्दगी,
प्यार दो तो संवर जाती है जिन्दगी,हाथ बढ़ाओ तो पास आती है जिन्दगी,
जिस नजर से देखो वैसी नजर आती है जिन्दगी,
नजरिया बदलते ही बदल जाती है जिन्दगी.


हमारी गलतियों से कही टूट न जाना,
हमारी शरारत से कही रूठ न जाना,
तुम्हारी चाहत ही हमारी जिंदगी हैं,
इस प्यारे से बंधन को भूल न जाना,


हमारी गलतियों से कही टूट न जाना,
हमारी शरारत से कही रूठ न जाना,
तुम्हारी चाहत ही हमारी जिंदगी हैं,
इस प्यारे से बंधन को भूल न जाना..


हमसे पूछो क्या होता है पल पल बिताना,बहुत मुश्किल होता है
 दिल को समझाना,यार ज़िन्दगी तो बीत जायेगी,
बस मुश्किल होता है कुछ लोगो को भूल पाना..


हमसे पूछो क्या होता है पल पल बिताना,बहुत मुश्किल होता है 
दिल को समझाना,यार ज़िन्दगी तो बीत जायेगी,
बस मुश्किल होता है कुछ लोगो को भूल पाना..


हथेली पर रखकर, नसीब अपनाक्यूँ हर शख्स, मुकद्दर ढूँढ़ता है
अजीब फ़ितरत है, 
उस समुन्दर कीजो टकराने के लिए, पत्थर ढूँढ़ता है


हुआ था शोर पिछली रात कोदो चाँद निकले हैं,
बताओ क्या ज़रूरत थीं तुम्हे छत पर टहलने की

note :-
 gam shayari ,gham shayari 2 lines,gam shayari 2020,kal ki shayari,gum shayari .



Post a Comment

Previous Post Next Post