latest hindi shayari 2020 | new hindi shayari | किसी की दोस्ती इतनी ज़रूरी लगी

Latest hindi shayari apne pyar ke izhar ka sabse achha tarika ,agar aaap apne crush ko apne dil ki bat kahna chahte hai to aap webshayari .in ki latest hindi shayari photo wali whatsapp par send kare 


dosti shayari hindi


होठो पे हसी आंखो मे मजबूरी सी लगी,
ज़िन्दगी मे पहेली बार किसी की
 दोस्ती इतनी ज़रूरी लगी


हर दोस्त की तनहाइयां दूर की
लेकिन हर मोड़ पर 
आज खुद को अकेला पाया


har dost ki tanhayi door ki
lekin har mod pe
khud ko akela paya 

अपने दिल की ज़मी पे तलाश कर मुझे,
अगर वहा नही तो कही नही 

breakup shayari hindi image 
breakup shayari hindi


तड़पते रहेँगे उसे देखने को,
लेकिन उसकी तरफ 
नज़रेँ उठाना छोड़ देँगे..


अगर बिकने पे आ जाओ तो,घट जाते हैं
 दाम अक़सर ,न बिकने का इरादा हो,
तो क़ीमत और बढ़ती है 



आसमां में मत दूंढ अपने सपनों को,
सपनों के लिए ज़मीं भी जरूरी है,
सब कुछ मिल जाए तो जीने का क्या मज़ा,
जीने के लिये एक कमी भी जरूरी है..


आंसुओं की बूँदें हैं या आँखों की नमी है,
न ऊपर आसमां है न नीचे ज़मी है,
यह कैसा मोड़ है ज़िन्दगी का,
उसी की ज़रूरत है और उसी की कमी है..



आपने नज़र से नज़र कब मिला दी,
हमारी ज़िन्दगी झूमकर मुस्कुरा दी,
जुबां से तो हम कुछ भी न कह सके,
पर निगाहों ने दिल की कहानी सुना दी..


आज किसी की दुआ की कमी है,
तभी तो हमारी आँखों में नमी है,
कोई तो है जो भूल गया हमें,
पर हमारे दिल में उसकी जगह वही है..


आँखों में रहा दिल में उतर कर नहीं देखा,
कश्ती के मुसाफिर ने समंदर नहीं देखा,
पत्थर मुझे कहता है मेरा चाहने वाला,
मैं मोम हूँ उसने मुझे छू कर नहीं देखा..


आँखों मे आ जाते हैं आँसू,
फिर भी लबो पे हँसी रखनी पडती है,
ये मुहब्त भी क्या चीज है यारों,
जिस से करते हैं उसी से छुपानी पडती हैं..


आंखों देखी कहने वाले,
 पहले भी कम-कम ही थे,
अब तो सब ही सुनी-सुनाई बातों को दोहराते है..


आँखों के सामने हर पल आपको पाया हैं,
अपने दिल में भी सिर्फ आपको ही बसाया हैं,


एक अजीब सा मंजर नज़र आता हैं,
हर एक आँसूं समंदर नज़र आता हैं,
कहाँ रखूं मैं शीशे सा दिल अपना,
हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता हैं..

best dil dard shayari photo
best dil dard shayari photo


उसने पुछा,जिंदगी किसने बरबाद की हैं 
हमने उंगली उठाई और अपने ही दिल पे रख दी

usne puchha , jindagi kisne barbad ki hai
hamne ungli uthayi or apne hi dil par rakh di 

उस वक़्त भी अक्सर तुझे हम ढूंढने निकले ,
जिस धुप मे मज़दूर भी छत पे नहीं जाते ..


उल्फत का यह दस्तूर होता है,
जिसे चाहो वही हमसे दूर होता है,
दिल टूट कर बिखरता है इस क़द्र जैसे,
कांच का खिलौना गिरके चूर-चूर होता है!




उमर की राह मे रस्ते बदल जाते हैं,
वक्त की आंधी में इन्सान बदल जाते हैं,
सोचते हैं तुम्हें इतना याद न करें,
लेकिन आंखें बंद करते ही इरादे बदल जाते



कुछ लोग दिल पर इस तरह असर कर जाते हैं,
टूटे हुए शीशों मे भी साबुत नज़र आते हैं,
मिलते तो हैं घड़ी भर के लिए,
मगर दिल में उतर जाते हैं..


ऐसे तेरी कमी सी लगती है,
आग जैसे हवा से सुलगती है,
याद आते है लम्हे सब बीते हुए,
जैसे जैसे यह शाम ढलती है..


ऐ समन्दर मैं तुझसे वाकिफ हूं 
मगर इतना बताता हूं,
वो आंखें तुझसे ज्यादा गहरी हैं 
जिनका मैं आशिक हूं..


ऐ दोस्त जिदगी भर मुझसे दोस्ती निभाना,
दिल की कोई भी बात हमसे कभी ना छुपाना,
साथ चलना मेरे दुख सुख मे,
भटक जाऊ मै कभी तो सही रास्ता दिखलाना।




एक दिन जब हम दुनिया से चले जायेंगे ,
मत सोचना हम आपको भूल जायेंगे,
बस एक बार आसमान के तरफ देखना,
मेरे पैगाम सितारों पर लिखे नज़र आएंगे..





एक तो तुम हसीन इतने हो,
उस पर अलफ़ाज़ भी रखते हो,
तुम ही कहो कोई क्यों ना दिल हारे,
दिलकश शायराना अंदाज़ भी रखते हो



कहाँ मांग ली थी कायनात मैंने,
जो इतना दर्द मिला,
ज़िन्दगी में पहली बार खुदा,
तुझसे ज़िन्दगी ही तो मांगी थी


कल बड़ा शोर था मयखाने में,
बहस छिड़ी थी जाम कौन सा बेहतरीन है,
हमने तेरे होठों का ज़िक्र किया,
और बहस खतम हुयी..


कल बड़ा शोर था मयखाने में,
बहस छिड़ी थी जाम कौन सा बेहतरीन है,
हमने तेरे होठों का ज़िक्र किया,
और बहस खतम हुयी..


क्यों इतना करीब चला आता है कोई
 क्यों मुहब्बत का एहसास दिला जाता है 
 जब आदत सी हो जाती है 
इस दिल को उसकी तो क्यों
 फिर दूर चला जाता है कोई



कभी रो लेने दो अपने कंधे पर सिर रखकर मुझे,
कि दद॔ का बवंडर अब संभाला नही जाता,
कब तक छुपा कर रखें आखों मे इसे,
कि आसुओं का समन्दर अब संभाला नही जाता..