लाला लाजपत राय के सुविचार | lala lajpat rai anmol vachan hindi

 आइये आज हम lala lajpat rai के सुविचारों के बारे में जानते हैं, lala laj pat rai anmol vachan  hindi
मेरे शरीर पर लाठी की एक एक चोट 
अंग्रेजो के साम्राज्य के ताबूत की कील बनेगी .



slogan of lala lajpat rai
lala lajpat rai motivational thought

दूसरों की  वजाये   स्वंय पर विश्वास रखो
आप अपने ही प्रयत्नों से सफल हो सकते हैं

सच्चा नेता वही होता है ,
जिसका नेतृत्व प्रभावशाली हो,

जो अपनी आवाम में  सदा  आगे रहता हो,
 जो साहसी और निडर  हो.

dialogue of  lala laj pat rai in hindi 



 किसी राष्ट्र  का निर्णाण न्याय और सत्य
 की दृढं चट्टान पर ही किया जा सकता है.



 उन्नति  के मार्ग में अपने सद गुणों से आगे बढ़ता है
किसी दुसरे के भरोसे रहकर कामयाबी नहीं मिलती





अपनी गलतियों को सुधारते हुए
आगे बढना ही उन्नति कहलाता है





कोई समाज तब तक   नही   टिकसकता जब तक
उसकी शिक्षा अपने  सदस्यों की जरुरतो को पूरानही करती



lala lajpat rai thought in hindi





सामाजिक  जीवन में अनुशासन का होना बहुत जरुरी है
वर्णा  कामयाबी  के मार्ग  में बाधा आ जाएगी



वास्तविक आज़ादी दुखों से बेरोजगारी  से,
गरीबी से ,बीमारी से,

हर प्रका की अज्ञानता से और गुलामी  से
स्वतंत्रता प्राप्त करने में  है.



अतीतको देखकर उस पर गर्वकरना तब तक व्यर्थ है
जबकि  उससे प्रेरणा लेकर भविष्य का निर्माण नही किया



हार  और नाकामयाबी  कभी-कभी
जीत  की ओर बढने के लिए जरुरी कदम होते है

lala lajpat rai Inspirationl Quotes in Hindi



हिन्दू धर्म में नारी दुर्गा और सरस्वती दोनों का रूप होती है
अर्थात वह सबका आधार होती है
जो सुंदर भी होती है तो शक्ति का रूप भी होती है



परतन्त्रता में जीना
मतलब खुद का विनाश है



पूरी निष्ठा और ईमानदारी से शांतिपूर्ण साधनों के जरिये
उद्देश्य को पूरा करने को ही अहिंसा कहा जाता है



भले ही सवतंत्रता हमे प्यारी हो लेकिन
इसको  पाने का मार्ग बहुत ही लम्बा और कष्टकारी है