दोस्ती शायरी वॉलपेर dosti Shayeri images in hindi | latest collection

खवाबो  में  आने वाले  तेरा -शुक्रिया ,
नींद में सताने   वाले  तेरा -शुक्रिया  
कौन  करता  है  इस   किसीसे  दोस्ती  इतनी 
हमे  दोस्त  अपना कहने वाले  तेरा  शुक्रिया   
dosti shayari

tanhayi wallpeprतन्हाई शायरी पिक्स  hd 
tanhayi shayari pics

आँखों से आँसू क्यों छलक जाते है
तन्हाइयों में गम क्यों याद आते है
आँसू पोछ कर कोई ये बता दे हमसे
दूर रहने वाले अक्सर क्यों याद आते है
दोस्त बदल गया dost badal gya hd wallaper free 
dosty sed shayre


ज़िन्दगी ग़मों से दूर नहीं होती,

har khushi dil ke kareeb nahi hoti 
jindagi gamo se door nahi hoti 
a dost dosti ko sanjo kar rakhna 
dosti har kisi ke naseeb nahi hoti 
lastes shyeri wallpaper fere dunlad hd 
nasib shayeri photu

हर ख़ुशी दिल के करीब नहीं होती, 
ज़िन्दगी ग़मों से दूर नहीं होती, 
ऐ दोस्त दोस्ती को संजो कर रखना,
 दोस्ती हर किसी को नसीब नहीं होती
 jendagi shyeri dounlod hd picture जिंदगी शायरी इमजा 

ऐ दोस्त तू अगर आने का वादा करें तो, 

dosti ki rah me hd se gujar jayenge hum
ankho ke raste tere dil me utr jayenge hum
a dost tu agar aane ka wada kare 
tere  raho me fool ban kar bikhar jayenge hum 
dosti shayari hindi hd 
dosti shayari image

दोस्ती की राह में हद से गुजर जायेंगे हम, 
आँखों के रास्ते तेरे दिल मे उतर जायेंगे हम, 
राह शायरी इमेज  bayeda   शायरी वॉलपेर bada shayeri image s 
राह शायरी इमेज

ऐ दोस्त तू अगर आने का वादा करें तो, 
तेरी राहों में फूल बनकर बिखर जायेंगे हम।
best dosti shayari 2019  बेस्ट दोस्ती शायरी इमेज 
 दोस्ती शायरी इमेज


दोस्ती  करो  तो  धोखा    मत  देना
दुसरो  को  आसुओ  का  तोफा  मत  देना
दिल  से  रोये  कोई  ज़िंदगी  भर
ऐसा  किसी  को  मौका  मत  देना

_______________________________________

आपका  का शुक्रिया कुछ इस तरह अदा करू,
आप भूल भी जाओ तो मैं  हर पल याद करू,
खुदा ने बस इतना सिखाया हे मुझे
कि खुद से पहले आपके लिए दुआ करू..
________________________________________

दिन हुआ है तो रात भी होगी,
हो मत उदास, कभी बात भी होगी,
इतने प्यार से दोस्ती की है,
जिन्दगी रही तो मुलाकात भी होगी..
__________________________________________

वो दोस्ती  क्या जो मिलने की दुआ न करे,
आपको  भुलकर जियूं  यह खुदा न करे,
रहे तेरी दोस्ती मेरी जिन्दगानी बनकर,
यह बात और है जिन्दगी वफा न करे.
___________________________________________


दोस्त की दोस्ती जीने का दस्तूर है  
दोस्त की ही तो है ज़रूरत  जीने  के लिए,
दोस्त की खातिर  हर हार हमे मंज़ूर है,
दोस्त की दोस्ती है दवा  हर मरज  के लिए,
___________________________________________

 एक पहचान हज़ारो दोस्त बना देती हैं,
एक मुस्कान हज़ारो गम भुला देती हैं,
ज़िंदगी के सफ़र मे संभाल कर चलना,
एक ग़लती हज़ारो सपने जला कर राख देती है.
____________________________________________


 वो दिल क्या जो मिलने की दुआ न करे,
तुम्हें भुलकर जिऊ यह खुदा न करे,
रहे तेरी दोस्ती मेरी जिन्दगानी बनकर,
यह बात और है जिन्दगी वफा न करे..
_____________________________________________

दोस्त को दोस्त का इशारा याद रहेता हे,
हर दोस्त को अपना दोस्ताना याद रहेता हे,
कुछ पल सच्चे दोस्त के साथ तो गुजारो,
वो अफ़साना मौत तक याद रहेता हे
__________________________________________


 दोस्ती का शुक्रिया कुछ इस तरह अदा करू,
आप भूल भी जाओ तो मे हर पल याद करू,
खुदा ने बस इतना सिखाया हे मुझे
कि खुद से पहले आपके लिए दुआ करू..
________________________________________

कांटा  न  होता  तो  फूल  की  हिफाज़त  न  होती 
अँधेरा  न  होता  तो  रौशनी  की  ज़रूरत  न  होती  
अगर  मिल  जाती  हर  ख़ुशी  दुनिया  में  
तो  दिल  में   दोस्ती  की  जरुरत  न  होती .
___________________________________________

 देखी जो नब्ज मेरी,
हँस कर बोला वो हकीम,
जा जमा ले महफिल पुराने दोस्तों के साथ..
तेरे हर मर्ज की दवा वही है ..
______________________________________________

याद करते हैं हम आपकी  दोस्ती,
मीठी यादों से दिल भर आता है,
कल साथ जिया करते थे मिलकर,
आज मिलने को दिल तरस जाता है.
________________________________________________

 किसी रोज़ याद न कर पाऊं तो खुदगर्ज़ न समझ लेना दोस्तों,
दरसल छोटी सी इस उम्र में परेशानिया बहुत हैं,
मैं भूला नहीं हूँ किसी को मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं ज़माने में,
बस थोड़ी ज़िन्दगी उलझ पड़ी है दो वक़्त की रोटी कमाने में
__________________________________________________


 करनी है खुदा से गुजारिश,
तेरी दोस्ती के सिवा कोई बंदगी न मिले,
हर जनम में मिले दोस्त तेरे जैसा,
या फिर कभी जिंदगी न मिले।
______________________________________________


छोटे से दिल में गम बहुत है,
जिन्दगी में मिले जख्म बहुत हैं,
मार ही डालती कब की ये दुनियाँ हमें,
कम्बखत दोस्तों की दुआओं में दम बहुत है.
_________________________________________________


शायद फिर वो तक़दीर मिल जाये
जीवन के वो हसीं पल मिल जाये
चल फिर से बैठें वो क्लास कि लास्ट बैंच पे
शायद फिर से वो पुराने दोस्त मिल जाएँ 
__________________________________________________


 दूरियों से फर्क पड़ता नहीं,
बात तो दिलों कि नज़दीकियों से होती है,
दोस्ती तो कुछ आप जैसो से है,
वरना मुलाकात तो जाने कितनों से होती है.
________________________________________________



 किस हद तक जाना है ये कौन जानता है,
किस मंजिल को पाना है ये कौन जानता है,
दोस्ती के दो पल जी भर के जी लो,
किस रोज़ बिछड जाना है ये कौन जानता है.
__________________________________________________


 ये दोस्ती का रिश्ता भी कितना अजीब होता ह
दूरिया होते हुए भी दिल कितने करीब होता है
नही देखते हम रंग,जाति और हैसियत क
क्यों की ये सभी रिस्तो से ज़्यादा अजीज होता है
____________________________________________

हर  एक  जज़्बात  को  ज़ुबान  नहीं  मिलती 
,हर  एक  चाहत    को  दुआ  नहीं  मिलती 
दोस्ती  बनाये  रखो  तो  दुनिया  है  साथ ,
वर्ना  आंसू  को  भी  आँखों  में  पनाह  नहीं  मिलती .
_____________________________________________

 समंदर के लिए वो लहरे क्या 
जिसका कोई किनारा ना हो 
तारो के लिए वो रात क्या जिसमे चाँद ना हो
हमारे लिए वो दिन ही क्या
जिस मे आप की याद ना ह
_________________________________________


यारो होती  नहीं  दोस्ती  कभी  चेहरे  से 
दोस्ती  तो रूह   से  की  जाती  है 
चेहरा   उनका    प्यारा लगने लगता   है 
मुहब्बत   जिनसे   दिल  से  की  जाती  है 
______________________________________________


 इश्क़ और दोस्ती मेरी ज़िन्दगी के
दो जहाँ है
इश्क़ मेरा रूह तो दोस्ती मेरा इमां है
इश्क़ पे कर दूँ फ़िदा अपनी ज़िन्दगी
मगर दोस्ती पे तो मेरा इश्क़ भी कुर्बान है
___________________________________________

तेरी  प्यारी  सी  दोस्ती   कैसे  भूल   जाऊं ,
तू  ख्वाब  देखे ,और  में  नज़र  आऊं ,
कुछ  तो  बात  है  दोस्ती  में  हमारी ,
तू आवाज़ दे मैं दोड़ा चला आऊं 
_________________________________________

 गम को बेचकर खुशी खरीद लेगे,
ख्याबो को बेचकर जिन्दगी खरीदलेगें ,
होगी इम्तहान तो देखेगी दुनिया,
खुद को बेचकर आपकी दोस्ती खरीद लेगे.
_________________________________________________




लोग दौलत देखते हैं,
हम इज़्ज़त देखते हैं,लोग मंज़िल देखते हैं,
हम सफ़र देखते हैं,लोग दोस्ती बनाते हैं,
हम उसे निभाते हैं.
______________________________________________

करो   याद  तो  हर  बात  याद  आएगी 
गुजरे   वक़्त  की  हर  मुलाक़ात  याद आएगी 
 तलाश करो  जहान में  हम  से  बेहतर  कोई दोस्त 
फिर लोट कर आपको मेरी याद आएगी 
_______________________________________________

दिल  के दर्द  ने  कभी  चैन  से  ना  रहने  दिया , 
जब  चली  ठंडी   हवाएं  मैंने  तुझे  याद  किया , 
इस  का  मलाल    नहीं  क्यों  न तुमने  याद  किया ,
 इस  का  गम  है  की  तेरे इश्क ने  हमें   बर्बाद  किया .
__________________________________________________


 दिल मैं में जिनको भी जगह देता हूँ
खुद से ज़्यादा मैं उनका ख्याल रखता हूँ
जैसे के तुम मेरे दोस्त.
________________________________________

.हम वक्त गुजारने के लिए
दोस्तों को नही रखते,
दोस्तों के साथ रहने केलिए वक्त रखते है.
____________________________________________


 दोस्ती  में  दूरिया  तो   आती   रहती  है ,
फिर  भी   दोस्ती  दिलों  को  मिला  देती  हैं ,
वो  दोस्त  ही  क्या  जो  नाराज़  न  हो ,
मगर  सच्ची  दोस्ती  दोस्तों  को  मना  लेती  हैं 
___________________________________________


अरे हम  तो हैं  दोस्ती  के  सौदागर  
दोस्ती  का  सौदा  तुमसे कर  जायेंगे ,
अगर  आप  होंगे  हमारी  दोस्ती  के  खरीददार ,
 दोस्ती  की  कसम  हम  मुफ्त  में   बिक  जायेंगे 
___________________________________________


मेरे “शब्दों” को इतने ध्यान से
ना पढ़ा करो दोस्तों,
कुछ याद रह गया तो
मुझे भूल नहीं पाओगे
__________________________________________

कभी  कभी  प्यार  मे  ऐसा  भी  होता  है 
दोस्ती  का रंग   ज़रा  देर   से  होता  है 
आप  को  लगता  है  हम  कुछ  नहीं  सोचते 
हमारी  हर  बात  में  आप  का  ही  ज़िकर  होता  है 
_______________________________________________

 तुझमे  बात  ही   कुछ  ऐसे  है 
दिल  न  दिया  तुम्हे  तो  जान  चली  जायेगी .
_____________________________________________

इक झलक जो मुझे आज तेरी मिल गयी मुझे
फिर से आज जीने की वजह मिल गयी..
_______________________________________________

 एक  हसीं  पल  की  ज़रुरत  है  हमे .
बीते  हुए  कल  की  ज़रूरत  है  हमे .
सारा  जमाना  रूत  गया  हमसे .
जो  कभी  न  रूठे  ऐसे  दोस्त  की  ज़रूरत  है  हमे .
________________________________________________

जब  कोई  अहसास   दिल  से  टकराता  है 
दिल  न  चाह   कर  भी  बेचैन   हो  जाता  है 
कोई  सब  कुछ  कह  केर  दोस्ती जताता  है ,
तो  कोई  कुछ  न  कह  के  दोस्ती  निभाता  है 
________________________________________________

खुशीओं  पर  फ़िज़ाओं  का  पहरा  है 
न   जाने  किस  उम्मीद  पे  दिल  ठहरा  है 
आपकी  आँखों  से  झलकते  दर्द  की  क़सम 
ये  दोस्ती  का  रिश्ता  प्यार  से  भी  गहरा  है 
__________________________________________________

दोस्ती में   धोखा   देने  वाले  हज़ार   मिल  जायेंगे 
दिलों  को  खरीदने  वाले  बार -बार  मिल  जायेंगे 
मिलेगा  न  तुमको  हम  जैसा सच्चा  दोस्त 
मिलने  को  तो यार   बेशुमार  मिल  जायेंगे 
_______________________________________________

दोस्ती  वो  नहीं  होती  जो  “जान ’ देती  है  ,
दोस्ती  वो  नहीं  होती  जो  मुस्कान  देती  है  ,
असली  दोस्ती  तो  वो  होती  है  जो  
समुन्दर  में  गिरा  आंसू  भी  पहचान  लेती  है  
______________________________________________

दोस्ती  में  जीना , दोस्ती  में  मरना . 
हिम्मत  न  हो , तो  दोस्ती  न  करना .
 ज़िन्दगी  नहीं  हमारी दोस्तों   से  प्यारी . 
दोस्तों  के  लिए   है  जिंदगानी   हमारी .